Monday, May 18, 2015

चाँद आहें भरेगा, फूल दिल थाम लेंगे

मित्रों ! मुकेश जी का एक प्यारा-सा गीत आपके लिए प्रस्तुत कर रहा हूँ | आप इसे यू-ट्यूब पर सुनकर अपनी कीमती राय से अवगत कराने का कष्ट करें.....

                                    
चाँद आहें भरेगा, फूल दिल थाम लेंगे
हुस्न की बात चली तो, सब तेरा नाम लेंगे

ऐसा चेहरा है तेरा, जैसे रोशन सवेरा
जिस जगह तू नही है, उस जगह है अंधेरा
कैसे फिर चैन तुझ बिन तेरे बदनाम लेंगे

आँख नाजुक-सी कलियाँ, बात मिस्री की ड़लियाँ
होंठ गंगा के साहिल, जुल्फें जन्नत की गलियाँ
तेरी खातिर फरिश्तें सर पे इल्ज़ाम लेंगे

चुप ना होगी हवा भी, कुछ कहेगी घटा भी
और मुमकिन है तेरा, जिक्र कर दे खुद़ा भी
फिर तो पत्थर ही शायद ज़ब्त से काम लेंगे

Chaand aahein bharega : A tribute to mukesh by PBChaturvedi
Movie : Phool Bane Angare (1963)
Lyricist : Anand Bakshi
Music Director : Kalyanji Anandji