Saturday, May 16, 2009

गीत/प्रसन्नवदन चतुर्वेदी/वैसे तो दुनिया में अक्सर

वैसे तो दुनिया में अक्सर,सूरत की कीमत होती है।
लेकिन सबसे अच्छी सूरत,इन्सान की सीरत होती है।


कभी तन सुन्दर मिल जाता है तो मन सुन्दर ये नहीं होता,
कभी मन सुन्दर जो होता है तो तन सुन्दर ये नहीं होता,
झूठी ये बात नहीं अक्सर, ये बात हकीकत होती है........
हाँ हाँ सबसे अच्छी सूरत,इन्सान की सीरत होती है........


शोहरत भी मिलती है जो अगर मन के ही अच्छे होने से,
सच्ची खुशियाँ भी मिलती हैं मन के ही सच्चे होने से,
दौलत दुनिया की सबसे बड़ी मन की ये मिल्कियत होती है..
सबसे अच्छी सूरत यारों इन्सान की सीरत होती है...........


जीवन अच्छा जो बिताना हो औरों को कभी न सताना तुम,
हो सके तो खुद पर भी हंसकर औरों को खूब हँसाना तुम,
जीवन अच्छा कट जाता है जब अच्छी नीयत होती है.....
अच्छी सबसे अच्छी सूरत,इन्सान की सीरत होती है.........

5 comments:

  1. bahut khoob chaturvedi ji, jiwan achcha hota hai jab achchi neeyat hoti hai.

    bahut khoob.

    ReplyDelete
  2. सबसे अच्छी सूरत यारों इन्सान की सीरत होती है...........

    bahut sahi kaha aap ne..
    ek achcha sandesh deta hua sundar geet

    ReplyDelete
  3. जीवन अच्छा कट जाता है जब अच्छी नीयत होती है.....
    अच्छी सबसे अच्छी सूरत,इन्सान की सीरत होती है.........

    -खरे सच को उजागर करती रचना. साधुवाद.

    ReplyDelete
  4. kavita mein bilkul saty baat kahi aapne...

    ReplyDelete
  5. ghazal aur geet ke bhed ko kitne achhe se samajhke dono me aap ekdum nipud maloom hote hai Sir...ye blog apne aap me ek anokha blog lagaa mujhe... :)

    prakriti ko mera salaam padhe:
    http://pyasasajal.blogspot.com/2009/05/blog-post_27.html

    ReplyDelete