Monday, January 14, 2013

तू मुझको याद रखना/pbchaturvedi

यह पूर्वप्रकाशित रचना पहले भी 2009 में  मैं अपने ब्लाग पर डाल चुका हूँ । हालांकि आडियो क्वालिटी इतनी अच्छी नहीं है क्योंकि यह मोबाइल से रिकार्ड किया गया है आज इस पूर्वप्रकाशित रचना को यहाँ लिखकर और अपनी आवाज़ में प्रस्तुत कर रहा हूँ...

तू मुझको याद रखना, मेरी बात याद रखना।
गुजरे जो खूबसूरत, लम्हात याद रखना।


बादल बरसने वाले, आँखों में जब भी छाए;
मेरे साथ भींगने की, बरसात याद रखना।


तुमसे जुदा हो जाऊं, मैं कब ये चाहता था;
काबू में नहीं होते, हालात याद रखना।


ग़मगीन तुम न होना, कभी इन जुदाइयों से;
मैं हूँ तुम्हारे दिल में तेरे साथ याद रखना।


नहीं आ सकूंगा मैं तो, तेरे पास ग़म न करना,
तू अपने मुहब्बत की, सौगात याद रखना।


मेंहदी लगी न तुझको, सेहरा न मैंने बाँधा;
तो क्या हुआ यादों की, बारात याद रखना।


आप आवाज़ यहाँ सुन सकते हैं...
तू मुझको याद रखना/pbchaturvedi/Audio 

आप यू-ट्यूब पर यहाँ सुन सकते हैं...

11 comments:

  1. यादों की खूबसूरत पूंजी

    ReplyDelete
  2. गाए जाने योग्य अच्छी रचना है।

    ReplyDelete
  3. wah wah anand aa gya ....ak achhi rachana ....badhai

    ReplyDelete
  4. bade nazuk se bhaw hain.....bahot achchi lagi.

    ReplyDelete
  5. अच्छी है यादों की बारात ..

    ReplyDelete
  6. बहुत सुन्दर भावपूर्ण है गजल !
    बहुत बहुत आभार ..

    ReplyDelete
  7. वाह! बहुत खूब...आप ने तो साथ में संगीत भी दिया है.
    बहुत अच्छा लगा सुनकर.

    ReplyDelete